Punjab News: पंजाब में बना इतिहास! 2 महिला IPS पहली बार बनीं DGP… जानें कौन हैं दोनों अफसर

हाइलाइट्स

पंजाब पुलिस में पहली बार दो महिला IPS अधिकारी को DGP पद मिला है.
IPS अधिकारी गुरप्रीत कौर देव और शशि प्रभा द्विवेदी पंजाब में पहली महिला DGP होंगी.
दोनों का प्रमोशन सोमवार को किया गया है.

चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) में यह पहली बार होने जा रहा है कि दो महिला IPS अधिकारी पुलिस महानिदेशक (DGP) बनने जा रही हैं. IPS अधिकारी गुरप्रीत कौर देव (IPS Gurpreet Kaur Deo) और शशि प्रभा द्विवेदी (IPS Shashi Prabha Dwivedi) सोमवार को DGP (First women DGP in Punjab) पद हासिल करने वाली पंजाब की पहली महिला आईपीएस अधिकारी बनी हैं. वे सात अतिरिक्त डीजीपी रैंक के अधिकारियों में शामिल हैं जिन्हें डीजीपी के रूप में प्रमोट किया गया है. राज्य में शीर्ष पुलिस रैंक रखने वाले लोगों की कुल संख्या अब 13 हो गई है. बड़ी बात यह है कि सभी प्रमोशन प्राप्त करने वाले 1993 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, प्रमोशन पाने वालों में सबसे वरिष्ठ गुरप्रीत कौर देव पंजाब पुलिस में पहली महिला IPS अधिकारी भी हैं. उन्हें 5 सितंबर साल 1993 को आईपीएस अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था. गुरप्रीत कौर देव इससे पहले अतिरिक्त डीजीपी (सामुदायिक मामलों के विभाग और महिला मामले), एडीजीपी-कम-एंटी-ड्रग स्पेशल टास्क फोर्स की प्रमुख, मुख्य सतर्कता अधिकारी, जांच ब्यूरो और एडीजीपी (प्रशासन) और एडीजीपी (अपराध) के रूप में सेवाएं दे चुकी हैं.

पढ़ें- पंजाब में फिल्‍म सिटी बनाने का ऐलान, सीएम भगवंत मान बोले, बॉलीवुड से जुड़ेगा पंजाबी सिनेमा

वहीं IPS अधिकारी शशि प्रभा द्विवेदी की बात करें तो वह आधुनिकीकरण के अतिरिक्त प्रभार के साथ अतिरिक्त डीजीपी (रेलवे) के रूप में तैनात थीं और साल 1993 के बैच से ही हैं. वह 4 सितंबर 1994 को आईपीएस अधिकारी के रूप में शामिल हुईं थीं. द्विवेदी ने पहले महिला और बाल मामलों के अतिरिक्त प्रभार के साथ एडीजीपी (मानव संसाधन विकास) और पंजाब पुलिस चुनाव सेल के नोडल अधिकारी के अतिरिक्त प्रभार के साथ एडीजीपी (लोकपाल) के रूप में काम किया था.

जिन अन्य लोगों को डीजीपी रैंक में प्रमोशन किया गया है उनमें वरिंदर कुमार (निदेशक, विजिलेंस ब्यूरो), राजेंद्र नामदेव ढोके (आंतरिक सुरक्षा और खनन प्रवर्तन निदेशालय के प्रमुख), ईश्वर सिंह (एडीजीपी, मानव संसाधन विकास कल्याण और राज्य चुनाव के लिए नोडल अधिकारी के अतिरिक्त प्रभार के साथ), जितेंद्र कुमार जैन (ADGP, पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड) और सतीश कुमार अस्थाना (ADGP, नीति और नियम) का नाम शामिल है.

मालूम हो कि पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार बनने के बाद IPS वरिंदर कुमार सुर्खियों में रहे, क्योंकि विजिलेंस ब्यूरो ने हाल के दिनों में कांग्रेस के कई नेताओं और पूर्व मंत्रियों सहित कई प्रभावशाली लोगों के खिलाफ कई मामले दर्ज किए हैं.

Tags: Punjab, Punjab Police

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *