Ranchi News : 3500 रुपये लूट मामले में नक्सली समेत 2 गिरफ्तार, जानें आरोपी कहां करते थे लूटपाट

रिपोर्ट – ओम प्रकाश

रांची. राजधानी रांची के ग्रामीण इलाकों में लूटपाट की वारदात को अब उग्रवादी भी अंजाम देने में जुटे हैं. ऐसी ही एक लूट की वारदात का खुलासा हुआ तो पुलिस के भी होश उड़ गए. क्योंकि महज साढ़े 3 हजार रुपए और मोबाइल की लूट को अंजाम देने में एक टीपीसी उग्रवादी पुलिस के हत्थे चढ़ गया.

गिरफ्तार उग्रवादी कुछ दिनों पहले ही एक माइंस में गोलीबारी और वाहनों को आग के हवाले करने के मामले में शामिल था. पुलिस ने लूट में में शामिल उग्रवादी के साथ एक अन्य अपराधी को भी गिरफ्तार किया है.

आपके शहर से (रांची)

झारखंड
रांची

झारखंड
रांची

एसपी के निर्देश पर गठित हुई थी टीम

दरअसल, रांची के बुढ़मू थाना में कुछ दिन पहले एक लूट का मामला दर्ज किया गया था. जिसका खुलासा करने को लोकर रांची एसएसपी के निर्देश पर एक टीम का गठन किया गया. इस विशेष टीम ने मामले में गंभीरता से कार्रवाई करते हुए लूटपाट की घटना में शामिल दो अपराध कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया.

गिरफ्तार अपराधियों के पास से लूट का मोबाइल सहित अन्य सामान बरामद किए गए. गिरफ्तार बदमाशों में वारिस अंसारी व प्रिंस कुमार जायसवाल शामिल है.

पूछताछ में चौकाने वाले खुलासे

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की तो पता चला कि वारिस अंसारी उग्रवादी संगठन टीपीसी के सक्रिय सदस्य के रूप में काम कर चुका है. वह पिछले दिनों कांके थाना क्षेत्र में हुए क्रेशर में आगजनी की घटना में शामिल था. वारिस अंसारी के साथ टीपीसी के आधा दर्जन से अधिक उग्रवादियों ने कांके थाना क्षेत्र में आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया था.

पुलिस के लिए खतरे की घंटी

बहरहाल, रांची पुलिस ने इस मामले का त्वरित अनुसंधान कर मामले का खुलासा तो कर दिया. लेकिन जिस तरह से उग्रवादी और नक्सली अब आम लोगों के साथ लूटपाट की वारदात को अंजाम दे रहे है. वो आने वाले दिनों में पुलिस के लिए किसी खतरे की घंटी से कम नहीं.

Tags: Jharkhand news, Ranchi news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *