RIP Raju Srivastav: 'गजोधर भैया' ने अचानक दिव्‍यांग खिलाड़ी को बना दिया था ब्रांड एंबेसडर, जानें कहानी

रिपोर्ट – विशाल झा

गाजियाबाद. मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav) का 58 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स में निधन हो गया. वह ‘गजोधर भैया’ के नाम से भी खासे मशहूर थे. उनको 10 अगस्त को दिल का दौरा पड़ा था और उसके बाद वह दिल्‍ली एम्स में भर्ती थे. उनके फैंस उनके ठीक होने की लगातार कामना कर रहे थे, लेकिन इसी बीच बुधवार को आई उनके निधन की खबर ने सभी की आंखें नम कर दीं. वहीं, गाजियाबाद के रहने वाले गाजियाबाद के दिव्यांग खिलाड़ी राजा बाबू भी ‘गजोधर भैया’ के निधन से बहुत दुखी हैं. इसके साथ उन्‍होंने राजू श्रीवास्‍तव के साथ बिताए पलों को न्‍यूज़ 18 लोकल के साथ साझा किया.

बहरहाल, राजू श्रीवास्तव एक मशहूर कॉमेडियन होने के साथ एक अच्छे इंसान भी थे. दूसरों को हंसाने और प्रोत्साहन देने का कोई भी मौका वह गंवाते नहीं थे. गाजियाबाद के दिव्यांग खिलाड़ी राजा बाबू की राजू श्रीवास्तव से कानपुर साउथ लीग के दौरान मुलाकात हुई थी, जब वह असली के ब्रांड एंबेसडर थे. दिव्यांग होने के बावजूद राजा बाबू का बेहतरीन खेल देखकर राजू श्रीवास्तव ने उन्हें स्टेज पर बुलाया था और उस लीग का लोकल ब्रांड एंबेसडर बना दिया था. इसके साथ ही राजा बाबू को राजू श्रीवास्तव ने प्रोत्साहन राशि के रूप में 11 हजार रुपये भी दिए.

‘गजोधर भैया’ की बात करते हुए आंखें हुईं नम
राजा बाबू बताते हैं कि उनके करियर में मिलने वाली उन्हें यह पहली बड़ी राशि थी. उन्‍होंने मेरे साथ काफी अच्छा व्यवहार किया था. यही सोचकर राजा बाबू की आंखें नम हो गई. उन्होंने आगे कहा कि मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि राजू भैया हम सब को छोड़ कर चले गए हैं.

कानपुर में लिया जन्‍म और दुनियाभर में चमके
राजू श्रीवास्तव का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर में 25 दिसंबर 1963 को हुआ था. बचपन में उनका नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव था. राजू को कॉमेडी शो द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज (The Great Indian Laughter Challenge ) से पहचान मिली थी. इसके बाद उन्‍होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. वहीं,1993 में राजू श्रीवास्तव ने शादी की. उनके दो बच्चे हैं.

Tags: Ghaziabad News, Raju Srivastav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *