Supreme Court Live streaming: यहां लाइव देखें SC की कार्यवाही, आज से प्रसारण शुरू

हाइलाइट्स

26 सितंबर, 2018 को कानून के छात्र ने दायर की थी इस संबंध में याच‍िका
संवैधानिक और राष्ट्रीय महत्व के मामलों की अदालती कार्यवाही की लाइव-स्ट्रीमिंग की अनुमति दी थी
सीजेआई यूयू ललित की अगुवाई में गत मंगलवार को फुल कोर्ट मीटिंग में लिया गया था यह निर्णय

नई द‍िल्‍ली. आज से आप सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की सुनवाई को लाइव देख सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट की संवैधान‍िक पीठ (Constitution Bench) के मामलों की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग (Live streaming) आज से शुरू हो गई है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश यूयू ललित की अगुवाई में गत मंगलवार को फुल कोर्ट मीटिंग में यह निर्णय लिया गया था क‍ि कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग (Live streaming of Supreme Court) की जाएगी. इस कार्यवाही को इस ल‍िंक http://webcast.gov.in/scindia/ के जर‍िए देखा जा सकता है. इसके अलावा https://main.sci.gov.in/display-board पर भी आप लाइव देख सकते हैं.

Narayan Rane Case: केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बंगले पर चलेगा ‘बुलडोजर’, SC ने 3 माह में अवैध न‍िर्माण ग‍िराने के द‍िए आदेश

दरअसल 26 सितंबर, 2018 को कानून के छात्र की एक याचिका पर शीर्ष अदालत के फैसले ने संवैधानिक और राष्ट्रीय महत्व के मामलों की अदालती कार्यवाही की लाइव-स्ट्रीमिंग की अनुमति दी थी. अदालत ने कहा था कि यह खुलापन ‘सूर्य की रोशनी’ की तरह है जो ‘सर्वश्रेष्ठ कीटाणुनाशक’ है.

बताते चलें क‍ि पिछले साल जुलाई में सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन सीजेआई एनवी रमना ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की कार्यवाही की लाइव-स्ट्रीमिंग जल्द ही शुरू हो सकती है. इसे सक्षम करने के लिए लॉजिस्टिक्स पर काम किया जा रहा है. न्यायमूर्ति रमना ने गुजरात हाईकोर्ट की कार्यवाही की लाइव-स्ट्रीमिंग के वर्चुअल लॉन्च के दौरान कहा था. सुप्रीम कोर्ट कुछ अदालतों की लाइव स्ट्रीमिंग शुरू करने के बारे में सोच रहा है. हाईकोर्ट लाइव हो गया है.

[embedded content]

जस्टिस रमना ने कहा था कि वर्तमान में लोगों को मीडिया के माध्यम से अदालती कार्यवाही के बारे में जानकारी मिलती है. उन्होंने कहा था क‍ि वास्तव में प्रसारण के एजेंटों द्वारा अदालतों की जानकारी को फ़िल्टर किया जा रहा है. इस प्रक्रिया में, कभी-कभी ट्रांसमिशन लॉस होता है.

Tags: Live Streaming, Supreme Court, Supreme court of india

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *