Third Wave से पहले नए Virus ने दी दस्तक! मिले Zika और Kappa के केस

नई दिल्ली: केरल में कोरोना संक्रमण के बाद जीका वायरस ने दस्तक दे दी है. 24 साल की एक गर्भवती महिला जीका वायरस से संक्रमित पाई गई है. यानी एक तरफ कोरोना अपना रूप बदल ही रहा है, वहीं दूसरी तरफ कोरोना की तीसरी लहर से पहले नया वायरस भी आ गया है.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कोरोना का नया वैरिएंट कप्पा मिलने के बाद अलर्ट जारी किया गया है. स्वास्थ्य विभाग ने पूरे यूपी में अलर्ट जारी किया है. बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर में कप्पा ने भी तबाही मचाई थी. गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज में कप्पा वैरिएंट का 1 मरीज भर्ती है. दिल्ली के IGIB इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट में कप्पा वैरिएंट की मौजूदगी का खुलासा हुआ है.

वहीं उत्तराखंड में डेल्टा प्लस का पहला मरीज मिला है. उधमसिंह नगर जिले के दिनेशपुर में पहला केस मिला है. संक्रमित अपने रिश्तेदार के घर आया था.

ये भी पढ़ें- चीन से दुश्मनी पर विदेश मंत्री ने सुनाई खरी-खरी, कहा- गलवान के बाद बिगड़ गए रिश्ते

इन डराने वाली खबरों के बावजूद अब भी बहुत से ऐसे लोग हैं, जिन्हें न अपनी जान की परवाह है और न दूसरों की जिंदगी की चिंता है. हालात थोड़े सुधरे नहीं कि टूरिस्ट प्लेस पर लोगों की भीड़ बढ़ गई. ज़ी न्यूज़ पहले से ही आपको आगाह करता आ रहा है और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर चिंता जताई है. गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस लापरवाही को लेकर आगाह किया और कहा कि एक भी गलती कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर कर सकती है.

गौरतलब है कि सावधानी और सतर्कता हर जगह जरूरी है क्योंकि अगर आप लापरवाह हुए तो मुसीबत को दावत दे रहे हैं. ऐसी ही एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है जिसमें लोगों की गैर जिम्मेदारी और लापरवाही कोरोना की तीसरी लहर का न्योता देती दिख रही है. मसूरी के टूरिस्ट स्पॉट पर एक साथ सैकड़ों लोगों की मौजूदगी बताती है कि लोग कितने गैर जिम्मेदार हैं.

ये भी पढ़ें- ‘स्टूडेंट के साथ संबंध बनाना मेरा संवैधानिक अधिकार’, महिला टीचर के बयान पर मचा बवाल

वहीं धर्मशाला से आई एक बच्चे की तस्वीर उम्मीदें भी पैदा करती है. यहां 5-6 साल का एक बच्चा उन लोगों से ज्यादा समझदार निकला, जिसने कोरोना से बचाव के लिए मास्क की अहमियत लोगों को बताई.

मसूरी के कैम्पटी फॉल पर्यटक स्थल पर भारी संख्या में पहुंच रहे पर्यटकों को देखते हुए जिला अधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि कैम्पटी फॉल से पहले चेक पोस्ट लगाई जाएगी. जहां पर कोविड-19 को लेकर चेकिंग की जाएगी. कैम्पटी फॉल वाटर पूल में आधे-आधे घंटे के अंतराल पर 50-50 पर्यटकों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी.

इसके साथ ही पर्यटक स्थल पर हूटर की भी व्यवस्था की जाएगी ताकि 30 मिनट पूरे होने पर वॉटर पूल में गए पर्यटक को वहां से वापस आने और दूसरे 50 पर्यटकों को वॉटर पूल में प्रवेश का संदेश दिया जा सके.

बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में पिछले 2 से 3 दिन में बढ़ोतरी देखी गई है. बीते 24 घंटे में संक्रमण के 43,393 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान कोरोना से 911 लोगों की मौत हो गई, वहीं 44,459 मरीज ठीक हुए. देश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 4,58,727 हो गई है.

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *