UP Board Exam 2021 Updates: दसवीं के बोर्ड एग्जाम रद्द, डिप्टी सीएम Dr Dinesh Sharma ने किया ऐलान

लखनऊ: देश में कहर ढा रही कोरोना महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए यूपी सरकार ने 10वीं के बोर्ड एग्जाम (UP Board Exam 2021) रद्द करने की घोषणा की है. इस साल 10वीं की परीक्षा में बैठने वाले सभी स्टूडेंट्स को औसत अंक देकर अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा.

कोरोना की वजह से 10वीं की परीक्षा निरस्त

राज्य के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा (Dr Dinesh Sharma) ने कहा कि इस साल महामारी के हालात को देखते हुए यूपी बोर्ड की कक्षा 10 की परीक्षा निरस्त (UP Board Exam Updates) कर दी गई है. इस फैसले से 10वीं के एग्जाम में बैठने वाले 29 लाख 94 हजार 312 बच्चों को फायदा होगा. उन्होंने बताया कि कक्षा 10वीं के बच्चों को कक्षा 11वीं प्रमोट करने के लिए उत्तर प्रदेश मध्यमिक शिक्षा परिषद को गाइडलाइन बनाने के निर्देश दिए गए हैं. 

ये स्टूडेंट्स भी होंगे प्रमोट

डॉ दिनेश शर्मा (Dr Dinesh Sharma) इसके साथ ही अलग-अलग बोर्ड से जुड़े सभी स्कूलों में कक्षा 6, 7, 8, 9 और 11 के स्टूडेंट्स को भी बिना एग्जाम के अगली क्लास में प्रमोट करने किया जाएगा. इस फैसले से प्रदेश के करीब 56 लाख स्टूडेंट्स को फायदा होगा. कक्षा 10 के बच्चों का कक्षा 11 में प्रोन्नति के विस्तृत दिशा निर्देश उत्तर प्रदेश मध्यमिक शिक्षा परिषद को बनाने के निर्देश दिए गए हैं. 

12वीं की परीक्षा पैंडिंग रखी जा रही 

उन्होंने बताया कि अभी यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा (UP Board Exam 2021) पैंडिंग रखी जा रही है. इस परीक्षा को हालात अनुकूल होने पर जुलाई के दूसरे सप्ताह में आयोजित कराने की योजना है. इस परीक्षा में प्रश्न पत्र हल करने की अवधि केवल डेढ़ घंटा रखी जाएगी. इस प्रश्न पत्र में स्टूडेंट्स को 10 में से केवल 3 सवालों का जवाब देना होगा. 

जल्द जारी होगी डेटशीट

डिप्टी सीएम ने कहा कि इस परीक्षा (UP Board Exam 2021) की डेटशीट जल्द ही जारी की जाएगी. पिछले साल की तरह इस बार भी केवल 15 दिनों में सारी परीक्षा खत्म करा ली जाएगी. सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए इस साल एग्जाम सेंटर्स की संख्या में बढ़ोतरी कर दी गई है. इस बार 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 26 लाख 10 हजार 316 छात्रों का पंजीकरण हुआ है.

ये भी पढ़ें- UP Board 12th Exam 2021: 12वीं की परीक्षा को लेकर क्या बोले शिक्षा मंत्री? जानिए Latest Update

इस गाइडलाइन का करना होगा पालन

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसी बोर्ड विशेष का कोई विशेष आदेश न हो तो प्रदेश के सभी बोर्ड के स्कूलों को कक्षा 6, 7, 8 के छात्रों को अगली कक्षा में सामान्य रूप से प्रमोट करना होगा. कक्षा 9 और 11 के छात्रों को उनकी वार्षिक परीक्षा के परीक्षाफल के आधार पर अगली कक्षा में प्रोन्नति दी जाए. यदि किसी विद्यालय में वार्षिक परीक्षा अभी तक संपादित नहीं हो पाई है तो वह छात्र के वर्ष भर में किए गए आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा में प्रोन्नति देंगे. यदि कोई आंतरिक मूल्यांकन उपलब्ध नहीं है तो सामान्य रूप से छात्र को प्रोन्नति दी जाए.

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *