VIDEO: 'ड्रग फ्री त्रिपुरा' मिशन के तहत अवैध शराब की दुकानों में तोड़फोड़, जिला प्रशासन ने की कार्रवाई

अगरतला: त्रिपुरा के अगरतला में जिला प्रशासन ने ‘ड्रग फ्री त्रिपुरा’ मिशन के तहत अवैध शराब की दुकानों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें दुकानों को नष्ट किया जा रहा है. बता दें कि सरकार भी अब ड्रग्स जब्ती में विश्वास नहीं रख रही, क्योंकि इससे अवैध शराब की दुकानें वापस खड़ी हो जाती हैं. सरकार इसे जड़ से उखाड़ना चाहती है, जो त्रिपुरा में साफ दिख भी रहा है.

समाचार एजेंसी एएनआई ने ट्वीट कर प्रशासन की कार्रवाई का वीडियो और फोटो  शेयर किया है. वीडियो में देखा जा सकता है कि लोगों की भीड़ के बीच एक मिनी डिगर दुकानों को नष्ट कर रहा है. इसे क्षति पहुंचाने से विक्रेताओं को भारी नुकसान होगा, जिससे वो यह धंधा भी बंद करेंगे, यही सरकार का मकसद भी है.

जहरीली शराब कांडः चारों ने पी थी कच्ची शराब, लेकिन कहां से खरीदी, पुलिस कर रही जांच

सरकार शुरू से ही अवैध रूप से नशीले पदार्थों की बिक्री को लेकर कठोर कदम उठा रही है. पिछले महीने  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था, ‘जब्ती हमारा मिशन नहीं, बल्कि उखाड़ना है.’ उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में मौजूदा सरकारें एकजुट होकर ड्रग्स के खिलाफ युद्ध लड़ने का प्रयास कर रही हैं. गृह मंत्रालय द्वारा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के तत्वावधान में 75,000 किलोग्राम ड्रग्स को नष्ट करने का निर्णय लिया गया था, लेकिन मुझे खुशी है कि 75,000 किलो की जगह 1,50,000 किलो नष्ट किया गया. यह एक बड़ी उपलब्धि है.

बता दें कि पूर्वोत्तर राज्यों में करीब 40,000 किलोग्राम जब्त ड्रग्स को नष्ट कर दिया गया है, जिसमें त्रिपुरा में सबसे अधिक 12,000 किलोग्राम नशीला पदार्थ नष्ट किया गया, जबकि अरुणाचल प्रदेश में 4,000 किलोग्राम, मेघालय में 1,600 किलोग्राम, मणिपुर में 1,900 किलोग्राम, असम में 8,000 किलोग्राम, मिजोरम में 1,500 किलोग्राम और नागालैंड में 398 किलोग्राम नशीले पदार्थों को खत्म किया गया.

Tags: Drug Controller, Illegal liquor, Tripura

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *