VIDEO: …तो क्या मेरठ में आतंक का पर्याय बन चुके तेंदुए की हो चुकी है मौत?

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे पर एक मृत तेंदुए (Dead Leopard) का वीडियो वायरल हो रहा है..डीएफओ मेरठ राजेश कुमार ने बताया कि वन विभाग के गाज़ियाबाद डिविज़न के अंतर्गत एक डेड तेंदुए का वीडियो सामने आया है. उन्होंने बताया कि जहां तक किसी कार ने तेंदुए को टक्कर मारी है. वीडियो में तेंदुआ बीच सड़क पर मृत पड़ा हुआ है. उन्नीस सेकेंड के इस वीडियो में लोग ये कहते हुए नज़र आ रहे हैं कि लगता है किसी ने इसे टक्कर मार दी. लोग मृत तेंदुए के साथ सेल्फी भी बात करते हुए भी नज़र आ रहे हैं.

अब जबकि वन विभाग  गाज़ियाबाद डिवीज़न में मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे पर मृत तेंदुआ मिला है तो ऐसे में सवाल यही उठता है कि क्या ये वही तेंदुआ है जो मेरठ में दिख रहा था. या फिर ये कोई दूसरा तेंदुआ है. मेरठ में जो तेंदुआ दिख रहा था, उसकी उम्र चार साल के आसपास बताई जा रही थी. जहां पर इस तेंदुए की डेड बॉडी मिली है वो मेरठ गाज़ियाबाद का बॉर्डर है.जिस तरह से तेंदुआ रोड हिट का शिकार हुआ है, वो  यकीनन दुखद है.

गौरतलब है कि मेरठ में वन विभाग की टीम का ऑपरेशन तेंदुआ लगातार कई दिनों से जारी था. वन विभाग की टीम तेंदुए के पंजे के निशान के सहारे उसे पकड़ने की जद्दोजहद कर रही थी.  रात में भी वन विभाग की टीम पेट्रोलिंग और कॉम्बिंग कर रही थी. हापुड़ डिविज़न की टीम भी काली नदी के आसपास तेंदुए की तलाश में जुटी थी. महत्वपूर्ण है कि मेरठ के जागृति विहार के कीर्ति पैलेस के बगल में एक नाले के बगल से सड़क के बीचो-बीच बीते दिनों तेंदुआ चहल कदमी करते हुए दिखाई दिया था.

आपके शहर से (मेरठ)

उत्तर प्रदेश
मेरठ

उत्तर प्रदेश
मेरठ

इस तेंदुए का वीडियो सीसीटीवी में कैद हुआ था. वन विभाग की टीम लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही थी. लगातार पिछले 15 दिनों से अलग-अलग इलाकों में मेरठ शहर क्षेत्र में तेंदुआ देखा जा चुका था. मेरठ कैंट इलाके में भी दो बार तेंदुआ सीसीटीवी में कैद हुआ और 15 दिन के भीतर तीन बार  तेंदुआ सीसीटीवी में कैद हुआ था

Tags: Jhansi leopard attack, Leopard attack, Up news in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *